आगे

मास्टर और शिष्यों के बीच

कौन वास्तव में मुक्त हो सकता है? ग्यारह का भाग ४

2020-08-29
भाषा:English

प्रकरण

विवरण
डाउनलोड Docx
और पढो

आप केवल हर चीज़ की उम्मीद नहीं कर सकते, पर दें कुछ भी नहीं। (हां मास्टर।) और आपको कुछ देना भी नहीं है! आप इसे दूसरों से न लें। जानवरों से जीवन मत लो। (जी हां मास्टर।) बहुत ही सरल उपाय! यदि आप जीवन को मारते हैं, तो आप बदले में जीवन की उम्मीद नहीं कर सकते। "जैसी करनी वैसी भरनी।" कर्म के नियम के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते।

( वहाँ एक नए स्वाइन फ्लू वायरस की खोज हुई है जिसे जी 4 ईए एच 1 एन 1 या संक्षिप्त में जी 4 कहा जाता है। क्या यह महामारी में विकसित होगा? )

आप इंतजार करें और देखें। मैंने पहले भी बताया है कि कई बम फटने हैं। काफी कुछ, सिर्फ एक ही नहीं। (जी हां मास्टर।) और अब कोविड-19 के कारण, यह अन्य प्रकार की महामारी अन्य प्रकार की बीमारी को जन्म देता है। (जी हां मास्टर।) यह अभी तक एक महामारी नहीं हो सकता है, लेकिन यह हम सब पर है। देखें कितने सारे... लाखों लोगों को देखें जो पहले से ही संक्रमित हैं। तो, हम तरह से एक बीमारियों में, बैक्टीरिया में, और वायरस और खतरे में तैर रहे हैं। (जी हां, मास्टर।) हर जगह। आप कुछ नहीं जानते कि आप किससे मिलेंगे जो उस बीमारी को वहन करता है और आप को दे सकता है, भले ही वह बीमार न भी दिखे। भले ही वह व्यक्ति बीमार न दिखे, लेकिन वह उसका वहन करता है और वह उसे कभी भी, कहीं भी, कभी भी आपको दे सकता है, आप नहीं जानते। (जी हां मास्टर।)

आपके एक भाई को केवल दंतचिकित्सक या किसी चीज़ के लिए बाहर जाना पड़ा, और मुझे उसे तीन सप्ताह के लिए अलग रखना पड़ा। मैंने इसे लिखा है। आप में से कुछ लोगों ने इसे पढ़ा होगा। (हां, हम इसे पढ़ा है, मास्टर।) वह जिसने मेरी मदद की। और मैंने सबके लिए समान कहा, यदि आप अपने समूह से बाहर जाते हैं। (जी हाँ।) क्योंकि आप अभी बुलबुले के अंदर हैं। (जी हां मास्टर।) रसोई के सदस्यों को भी बताएं, अगर वे बाहर जाते हैं, तो वे वापस नहीं आ सकते हैं। (जी हां मास्टर।) (हम उन्हें बताएंगे।) या यदि वे वापस आते हैं, तो उन्हें कम से कम तीन सप्ताह के लिए खुद को अलग करना होगा। (जी हां मास्टर।) इसलिए, किसी को तब तक बाहर नहीं जाना चाहिए जब तक पूर्णतया आवश्यक न हो। (जी हां, मास्टर।) रसोई के लोगों और आपको बाहर नहीं जाना चाहिए। आप अपने ही क्षेत्र में सुरक्षित हैं। (जी हाँ।) लेकिन अगर आपको जाना है, तो निश्चित रूप से आपको करना होगा। वापस आओ, सिर से पैर तक तुरंत स्नान करें, चिकित्सकीय रूप से अपने कपड़े धोएं, आदि। (जी हां मास्टर।) जब आप बाहर जाते हैं तो क्या मैंने धूप के चश्मे लगाने को कहा था? मैंने कहा था। (हाँ, मास्टर।) ठीक है।

कई अन्य बीमारियां भी अभी दिखाई दे रही हैं। (जी हां, मास्टर।) मैंने इसे हमारे [सुप्रीम मास्टर] टीवी पर देखा, यमन में कुछ, हैजा। और क्या? इबोला? (जी हाँ।) यह फिर से दिखा रहा है। (जी हां मास्टर।) और कहीं पर खसरा, आदि। आप देखते हैं कि कोविड-19 ऊर्जा के कारण हवा किसी तरह प्रदूषित होगी, जब लोग बीमारी को लेकर चलते हैं और इधर-उधर दौड़ते हैं। (जी हाँ।) इसलिए, लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित नहीं किया जा रहा है, भले ही वे कोविड -19 से संक्रमित न हों। (जी हां मास्टर।) इस प्रकार, यदि उन्होंने एक और बीमारी पकड़ी है, सामान्यतः उपचार योग्य, तो यह अनुपचारित हो सकती है; (ओह, वाह।) क्योंकि उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली पहले ही किसी तरह समझौता है।

तो, इसीलिए मैं आपको और शिष्यों को इन सभी सम्मेलनों के बारे में बताती रहती हूँ, बस उन्हें और अधिक सतर्क और सावधान रहने के लिए, और आध्यात्मिक पुण्य के साथ खुद की रक्षा करने के लिए। (जी हां मास्टर।) प्रार्थनाओं के साथ, ध्यान के साथ, आचरण और विचार और कर्म, और भाषण की शुद्धता के साथ। वही असली सुरक्षा है। अन्यथा, मेरे अपने तथाकथित शिष्यों सहित मनुष्यों में पर्याप्त प्रेम नहीं है, अपने आप को ढकने के लिए पर्याप्त योग्यता नहीं है। (ओह मैं समझ गयी।) तो उच्च शक्ति से, मास्टर शक्ति से उधार लेना चाहिए, और इस तरह हर दिन बहुत प्रार्थना करनी चाहिए, बहुत ध्यान करना चाहिए, जितना आप कर सकते हैं। (हांजी, मास्टर।) वह है स्वयं को हमेशा परमात्मा से जोड़ना। ताकि हमें अधिक समस्या न हो। (जी हां मास्टर।) कोई और सवाल, प्रिये? कितने और सवाल? मैंने सुना है आपके पास एक सूची है। (हाँ, यह बहुत है।) ठीक है। मुझे बताओ।

( मास्टर, देवताओं ने कहा कि यह अंतिम निर्णय समय है। इस समय की कृपा अवधि क्या है? इसका मतलब यह है कि हर कोई इस अनुग्रह अवधि के भीतर वीगन होना चाहिए? और अगर कुछ लोग वीगन नहीं बनते हैं, तो क्या वे किसी महामारी या आपदा से मर जाएंगे और जब तक वे पश्चाताप नहीं करेंगे? )

कृपा अवधि बहुत पहले ही समाप्त हो चुकी है। बस मैं स्वर्ग से याचना करती हूं, अधिक उदार बनो क्योंकि मनुष्यों को जहर दिया जा रहा है, उन्हें गुमराह किया गया है, उनका बुद्धि परिवर्तन किया गया है, माया से और जोशीले राक्षसों से सभी तरह के बुरे प्रभाव हैं। और कभी भी वे अब यू-टर्न ले सकते हैं, और मैं पास में खड़ी रहूंगी। यदि वे यू-टर्न ले सकते हैं, तो निश्चित रूप से उनके पास किसी तरह से अधिक सुरक्षा होगी। लेकिन यह इस पर भी निर्भर करता है कि उनके पास कितने पुण्य हैं। (जी हां, मास्टर।) इसलिए, उनके पिछले जीवन के पुण्य और उनकी निष्ठा और उनकी विनम्र प्रार्थना और पश्चाताप जो के साथ जोड़ें, किसी भी तरह से मदद करेगा। (जी हां, मास्टर।) कम से कम अगर वे महामारी को पकड़ लेते हैं, तो यह हल्का होगा, इसे कम किया जाएगा। और अगर वे मर जाते हैं, तो मैं उनकी आत्माओं को स्वर्ग जाने में मदद करने का बहाना ढूंढ सकती हूं। (जी हां मास्टर।)

( मास्टर, इसलिए, भविष्यवाणियां, जैसे कि ओलेक (वियतनाम) और अन्य लोगों से कहते हैं कि अंतिम फैसले के समय में आपदाएं और नई बीमारियां होंगी, और दस में से केवल एक, या दस में से दो पुण्यशील लोग बच जाएंगे। क्या यह सच होगा, मास्टर? क्योंकि हमें विश्वास है कि मास्टर के आशीर्वाद के साथ, यह उतना बुरा नहीं होगा। )

मैं केवल उन लोगों को आशीर्वाद दे सकती हूं जो सुनते हैं, जो सहयोग करते हैं। यदि एक डॉक्टर एक मरीज को एक नुस्खा देता है, और रोगी दवा नहीं लेता है, तो परिणाम क्या होगा? क्या आप पहले ही अपनी पूरी कोशिश नहीं करने के लिए डॉक्टर को दोषी ठहराएंगे? (नहीं, मास्टर।) हाँ! आप केवल हर चीज़ की उम्मीद नहीं कर सकते, पर दें कुछ भी नहीं। (हां मास्टर।) और आपको कुछ देना भी नहीं है! आप इसे दूसरों से न लें। जानवरों से जीवन मत लो। (जी हां मास्टर।) बहुत ही सरल उपाय! यदि आप जीवन को मारते हैं, तो आप बदले में जीवन की उम्मीद नहीं कर सकते। "जैसी करनी वैसी भरनी।" कर्म के नियम के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते। (हां मास्टर।) यदि वे जहर लेते रहते हैं और डॉक्टर उन्हें कहते हैं, “अब इसे मत लो। कम से कम जहर को रोकें, फिर मैं आपको ठीक कर सकती हूं,'' लेकिन वे जहर लेते रहे, तो मरीज मर जाएगा या तड़प उठेगा। बस मुझे सब कुछ करने की उम्मीद नहीं है और कोई भी कुछ भी नहीं करता है। ऐसी कोई बात नहीं है। (जी हां मास्टर।) फिर भी, हमें जानवरों के प्रति निष्पक्ष रहना होगा। वे कुछ भी गलत नहीं करते हैं। उन पर अत्याचार हुआ है, वे मरने से पहले ओह, हे भगवान, नरक की तरह रहे हैं। (जी हां मास्टर।) आपने यह सब हमारे [सुप्रीम मास्टर] टीवी और नेटफ्लिक्स पर देखा, (हाँ।) और सभी फिल्में जो हम विज्ञापित करते हैं। हमारे पास कैसे एक इंसान के रूप में मजबूत, बुद्धिमान, विकल्प हो सकते हैं, किसी ऐसे व्यक्ति पर अत्याचार कर सकते हैं, जो कमजोर है, और उस तरह असहाय है और दया की उम्मीद है करता है?! मैंने उनसे कहा कि उन्हें पछताना होगा और यू-टर्न लेना है। (जी हां मास्टर।) बस इतना ही उन्हें करना है। मैं बहुत कुछ नहीं माँगती। (जी हां मास्टर।) ताकि मैं उनकी मदद कर सकूं।

बेशक, मैं उन लोगों को आशीर्वाद दे सकती हूं जो पश्चाताप कर रहे हैं और जीवन के एक दयापूर्ण तरीके की ओर मुड़ते हैं, मैं सर्वशक्तिमान ईश्वर के अनुग्रह और दया से आशीर्वाद दे सकती हूं। मैंने आपको पहले ही बता दिया है कि मैंने उन आत्माओं की मदद की जो पश्चाताप करती हैं, भले ही उन्हें अपने पापों को भुनाने के लिए मरना पड़े। मैं उनकी मदद करती हूँ अगर वे अपने दिलों में पश्चाताप करते हैं, अगर उन्होंने कभी मेरी तस्वीरें, या मेरे वीडियो, या मेरी बातचीत देखी है, और मुझमें कुछ श्रद्धा, या कुछ विश्वास है। ये मैं मदद कर सकती हूं। लेकिन अगर वे नहीं सुनते हैं, वे अपने तरीके से जारी रखते हैं, तो मुझे अब उनकी मदद करने के लिए मत कहो, मास्टर का आशीर्वाद ... ढेर सारा आशीर्वाद - बिना किसी कारण के। इन लोगों के लिए, अगर वे नहीं बदलते हैं तो कुछ भी काम नहीं करेगा। क्या आप समझे? (जी हां मास्टर।)

हर कोई मुझसे पूछता रहता है, आप और आपके भाई मुझसे हमेशा पूछते हैं, "मास्टर का आशीर्वाद होना चाहिए, और सब कुछ ठीक हो जाएगा?" यह सब ठीक कैसे हो सकता है? जानवरों के बारे में कैसे? वे सब ठीक नहीं हैं, हैं क्या? ( नहीं।) फिर मुझसे या किसी और से या स्वर्ग से कुछ भी उम्मीद न करें। इस प्रकार के लोगों के लिए नर्क ही एकमात्र स्थान है, क्योंकि वे दूसरों की पीड़ा पर आंखें मूंद लेते हैं और उनके दर्द का आनंद उठाते हैं। (जी हां मास्टर।) हमेशा वहाँ बैठकर मांस खाना, शराब पीना, और जानवरों और दूसरों पर अत्याचार करना, और फिर मुझसे यह उम्मीद करना कि मैं उन्हें आशीर्वाद दूं? आप बार-बार इस तरह का सवाल पूछते रहते हैं। मैं इसे फिर कभी नहीं सुनना चाहती। (जी हां मास्टर।) क्योंकि यह एक बुद्धिमत्ता का प्रश्न नहीं है। यह स्वर्ग की शक्ति और भगवान के प्रेम का अपमान है। यदि आप एक प्रोफेसर के साथ अंग्रेजी सीखना चाहते हैं, तो आपको अपना गृहकार्य करना होगा। (जी हां, मास्टर।) आप प्रोफेसर से यह उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि अपने विशाल ज्ञान के कारण आप अंग्रेजी बोलें और अंग्रेजी समझें जबकि आप सीखते नहीं हैं, आप अभ्यास करने की कोशिश नहीं करते हैं, आप बोलते नहीं हैं, आप अपना गृहकार्य नहीं करते हैं। आप वह समझे? (जी हां, मास्टर।) यह मुझे गुस्सा दिलाता है, इस तरह का सवाल। ऐसा लगता है कि हर कोई बस वहां बैठता है, और एक व्यक्ति के सब कुछ करने के लिए इंतजार कर रहा है। यह प्रश्न एक राष्ट्रपति जैसी ही स्थिति जैसा है। वह चुने गए थे और वे क्षमाशील और परोपकारी होने के लिए जाने जाते हैं, और फिर उनसे अपेक्षा करते हैं कि वे कानून को लिख दें और हर कोई वही करता है जो वह चाहता है। यह उस व्यक्ति को मारता है, कोई समस्या नहीं; दूसरा व्यक्ति दूसरी छोटी लड़की से दुराचार करता है, कोई बात नहीं। हर एक वह करता है जो वह चाहता है, मजबूत कमजोरों पर अत्याचार करेगा, और राष्ट्रपति से सिर्फ अपने सभी आपराधिक रिकॉर्ड को लिखने के लिए कहें, हर किसी को क्षमा कर दे। और पीड़ितों के लिए यह उचित नहीं है। इसलिए मैं उस प्रश्न का उत्तर नहीं देना चाहती, क्योंकि यह वास्तव में हास्यास्पद है, यह बहुत अपमानजनक है। लोग, वे ऐसा सोचते हैं। वे बस कुछ भी करते हैं और फिर राष्ट्रपति से उनके लिए चमत्कार बनाने की उम्मीद करते हैं या एक मास्टर जो हूला हूला हूप और सब कुछ ठीक हो रहा है।

तो, आप मुझे क्या करना चाहते हो? आप अधिक बलिदान चाहते हैं, जैसे यीशु और कई अन्य गुरुओं से? जैसे मैं मर जाऊँ या कुछ और? और फिर वह चमत्कार हो सकता है क्योंकि मेरी मृत्यु से उनके पापों की सफाई हो सकती है? वह एक सपना है। सभी गुरुओं को देखें, वे तड़प-तड़प कर मर गए, और बुद्ध के साथ उनके जीवन से कई बार प्रयास किया गया था। और यीशु, वह सलीब पर ऐसे तड़प-तड़प कर मर गए। यहां तक कि अगर वह चंगे हो गए और सामान्य जीवन में वापस चले गए, तो यह एक सही तरीका नहीं है कि मनुष्य को यीशु जैसे एक निर्दोष व्यक्ति के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए। और उदाहरण के लिए, यदि वह वहां मर गए, तो उसने लोगों के पापों को साफ करने की बहुत कोशिश की, लेकिन यह केवल अस्थायी रूप से, शायद केवल उनके शिष्यों और उनके कुछ रिश्तेदारों और दोस्तों की, पांच, छह पीढ़ियों की। लेकिन लोगों ने अभी भी मांस खाना, शराब पीना जारी रखा, और इसलिए उनका बलिदान स्थायी नहीं था। और इससे क्या अच्छा निकलता है? ज़्यादा कुछ नहीं। वे इससे बाहर एक साम्राज्य बनाते हैं, बड़े मंदिरों का निर्माण करते हैं, और वह सब, और उसकी मूर्तियों की पूजा करते हैं; जब वह जीवित थे, उन्होंने उन्हें सलीब पर चढ़ाया। और मनुष्यों को देखो। उन्होंने क्या किया? मांस खाना, शराब पीना, मज़े लूटना जारी रखते हैं। (जी हां, मास्टर।) तो, क्या अच्छा [निकलता] है उसमें से? यदि किसी गुरु की मृत्यु होती है या भौतिक रूप से बलिदान देते हैं। मैं हर दिन बलिदान दे रही हूं। (जी हां मास्टर।) सिर्फ मेरी शारीरिक अस्वस्थता नहीं है और मुझे इतने सारे काम करने होते हैं जो मैं आपको नहीं बता सकती। लेकिन, मेरा आध्यात्मिक कल्याण भी, और आप सभी जानते हैं। (जी हां मास्टर।) तो, वैसे भी क्या फायदा है? मेरे कुत्ते सही हैं। वे मुझे यह बताने के लिए सही हैं कि, मैं मनुष्यों के लिए यह सब क्यों करती हूँ? वे योग्य नहीं हैं। और बस अपने आप को मुक्त करो। यहां तक कि स्वर्ग ने मुझसे कहा, मेरे जीवन को मुक्त करो। हाँ! उन्होंने मुझे कहा, “अपना जीवन मुक्त करो।" क्योंकि उन्होंने कहा, “स्वतंत्र रहो। सुरक्षित रहो। शांति से रहो। महान बनो।” कभी-कभी उन्होंने कहा, "खुश रहो," वह सब। इसका मतलब है, "बस बाहर निकलो।" (जी हां मास्टर।)

यह सब खेल है। वैसे भी यह सब भ्रम है। यह सब एक थियेटर की तरह है, एक सपने की तरह। मैं यह सब जानती हूं, लेकिन बाहर के आम लोगों को बताएं कि क्या यह उनके लिए एक सपना है? नहीं नहीं।) सही? ( सही।) वे दिन-रात पसीना बहाते हैं, सभी तरह की चीजों को झेलते हैं, सभी तरह की परिस्थितियों को केवल गुज़ारा करने के लिए। बस खुद या / और परिवार की देखभाल करने के लिए, और सभी प्रकार के उत्पीड़न, सभी प्रकार के कष्टों को सहन करना। और उन जानवरों से पूछें जो वहां अमानवीय रूप से पीड़ित हैं, इसलिए दुष्ट, इतने क्रूर तरीके से, वहां के कारखाने में खेती करते हैं। उनसे पूछें कि यह एक सपना है या नहीं। यह दुखदायक है। आप अपने आप को चुटकी लेते हैं और आप जानते हैं कि यह एक सपना नहीं है। दर्द होता है, है ना? (जी हां, मास्टर।) चुटकी काटने पर भी आपको चोट लगती है। यहां तक कि आप अपनी उंगली को थोड़ा काटते हैं, आपको चोट लगती है।

तो, मैं बस कैसे चल सकती हूं और कह सकती हूं, "यह सिर्फ एक सपना है" मेरे लिए यह। यहां तक कि अगर मुझे चोट लगी है या मैं कड़ी मेहनत करती हूं या मैं थक जाती हूं और सब कुछ ऐसा ही है, लेकिन एक तरफ, मुझे पता है कि यह सब खत्म हो जाएगा। यह सब एक सपना है। (जी हां, मास्टर।) लेकिन ज्यादातर लोगों के लिए, वे गहराई से पीड़ित होते हैं। मुझे पीड़ित होने के लिए बनाया गया है ताकि मैं समझ सकूं कि इस सपने के सभी सपने में, वे पीड़ित हैं। असली कष्ट। तो, इसीलिए मैं अभी दूर नहीं भाग सकती। (जी हाँ, मास्टर। धन्यवाद।) यही कारण है कि प्रबुद्ध गुरु या आध्यात्मिक अभ्यासियों में से कई, वे दुनिया में भी नहीं रहते हैं। वे बस चले गए। वे कहीं चले गए, हिमालय या किसी पहाड़ या नदी के बगल में, कुछ। वे अपना जीवन जीते हैं। (जी हां मास्टर।) एक सामान्य या सांसारिक जीवन की तरह नहीं, बल्कि वे अपने जीवन को दैवीय जीवन के साथ जीते हैं, जिसमें नई-नई आजादी है। वे शिष्यों को लेने के बारे में ज्यादा परवाह नहीं करते हैं। जो भी हो, यह वैसे ही है। लेकिन वे कभी बाहर जाने की परवाह नहीं करते। इस प्रकार के अभ्यासी, वे जानते हैं यह सब एक सपना है। ( हाँ।)

और देखें
प्रकरण
सूची
साँझा करें
साँझा करें
एम्बेड
इस समय शुरू करें
डाउनलोड
मोबाइल
मोबाइल
आईफ़ोन
एंड्रॉयड
मोबाइल ब्राउज़र में देखें
GO
GO
ऐप
QR कोड स्कैन करें, या डाउनलोड करने के लिए सही फोन सिस्टम चुनें
आईफ़ोन
एंड्रॉयड