यहाँ, आपको समय-सम्मानित शास्त्रीय शास्त्रों और ऋषियों के सिद्धान्तों के बारे में विख्यात मास्टर्स की आध्यात्मिक कथाएँ और पीढ़ियों से चली आ रही ऋषियों की कथाएँ मिलेंगी।उनके ज्ञान का प्रकाश समय और स्थान के माध्यम से कई गुना तरीके से फैलता है, जबकि आध्यात्मिक बीजों को अंकुरित करने के लिए तड़पते हैं, अज्ञानता और प्रतिशोध की बाधाओं को दूर करने के लिए आत्माओं का मार्गदर्शन करते हैं, और उन्हें उज्जवल दुनिया को विकसित करने और बधाई देने की अनुमति देते हैं।

चैनल का अन्वेषण करें

लौकिक चेतना में अनुभव: परमहंस योगनंदा द्वारा योगी की आत्मकथा से कुछ अंश, 2 का भाग 1

00:22:15
ज्ञान की बातें

लौकिक चेतना में अनुभव: परमहंस योगनंदा द्वारा योगी की आत्मकथा से कुछ अंश, 2 का भाग 1

“एक समुद्री खुशी टूट पड़ी मेरी आत्मा के शांत अंतहीन किनारे पर। ईश्वर की आत्मा, मुझे एहसास हुआ, ना ख़त्म होने वाला आनंद है; उनका शरीर प्रकाश के अनगिनत ऊतक हैं। संपूर्ण ब्रह्मांड, धीरे से चमकदार, जैसे शहर रात में दूर देखा गया, भीतर झाँका मेरे होने की असीमता को।”
ज्ञान की बातें
2019-12-02   996 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2019-12-02

Tales of the Mystic East: An Anthology of Mystic & Moral Tales Taken from the Teachings of the Saints

00:16:58
उत्थान साहित्य

Tales of the Mystic East: An Anthology of Mystic & Moral Tales Taken from the Teachings of the Saints

Baba Sawan Singh Ji became known as the “The Great Master,” His teachings were compiled in “Tales of the Mystic East: An Anthology of Mystic & Moral Tales Taken from the Teachings of the Saints.” This insightful book contains 90 stories that help teach us and connect us with God and the Saints. This tale shows that God’s will is beneficial to all beings, even though we may not see it immediately. Engaging and fun to read, each anecdote portrays precious wisdom that helps bring us closer to God.
उत्थान साहित्य
2019-07-27   2628 दृष्टिकोण
उत्थान साहित्य
2019-07-27

आपका अनुसरण, चार का भाग ३

00:34:45
मास्टर और शिष्यों के बीच

आपका अनुसरण, चार का भाग ३

मुझे वास्तव में कुछ नहीं चाहिए। आपके कारण, मुझे आपकी ज़रूरत है। अन्यथा, कुछ भी ज़्यादा नहीं है जो मुझे ज़रूरत है, क्या मुझे है?
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-24   1294 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-24

आदरणीय पैगम्बर मणि (वीगन): प्रकाश के संदेशवाहक, 2 का भाग 1

00:14:05
एक संत का जीवन

आदरणीय पैगम्बर मणि (वीगन): प्रकाश के संदेशवाहक, 2 का भाग 1

“पवित्र आत्मा नीचे आया और मुझसे बोला। उन्होंने मुझसे छिपे हुए रहस्य, युगों-युगों और मनुष्य की पीढ़ियों से छिपे होने का खुलासा किया: नीचे (अधोलोक) का रहस्य और उच्च (स्वर्ग), प्रकाश और अंधेर का रहस्य…” - पैगंबर मणि
एक संत का जीवन
2020-05-24   439 दृष्टिकोण
एक संत का जीवन
2020-05-24

स्वर्ण युग की भविष्यवाणी भाग ९१- प्रभु काल्की अवतार (शाकाहारी) और नया सत्य युग

00:24:37
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला

स्वर्ण युग की भविष्यवाणी भाग ९१- प्रभु काल्की अवतार (शाकाहारी) और नया सत्य युग

“उसका सर एक चमकते हुए मुकुट के साथ सजा था जो सूर्य जैसा दिखता था। उसके चेहरे की खूबसूरती उनके झुमके द्वारा बढ़ गयी, जो सूर्य की तरह शानदार थे। उसका कमल जैसा मुख खिलता दिखाई दिया जैसे वह मधुरता से मुस्कुराये बोलते समय। ... इस तरह सभी अवतारों, गन्धर्व (स्वर्गीय प्राणी), और अप्सराओं (परियों) ने भगवान कल्कि को देखा।”
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला
2020-05-24   577 दृष्टिकोण
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला
2020-05-24

जानवरों की रक्षा पर पवित्र कानून - "इन द फ्रंट ऑफ द ब्लाइंड" से कुछ अंश यहूदी विद्वान आसा केसर (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 2

00:15:41
ज्ञान की बातें

जानवरों की रक्षा पर पवित्र कानून - "इन द फ्रंट ऑफ द ब्लाइंड" से कुछ अंश यहूदी विद्वान आसा केसर (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 2

"माइयमानिडीज़ कहते हैं, 'कोई भेद नहीं है एक मानव द्वारा अनुभव की गयी पीड़ा के बीच और जानवरों द्वारा अनुभव की गयी पीड़ा के बीच; इसका कारण है कि एक माँ का प्रेम और तड़प अपनी संतान के लिए बुद्धि पर निर्भर नहीं है, बल्कि यह अंतर्निहित प्रकृति है अधिकांश प्राणियों में पाया जाता है जैसा कि मनुष्य में पाया जाता है।'''
ज्ञान की बातें
2020-05-23   249 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-23

आपका अनुसरण, चार का भाग २

00:34:34
मास्टर और शिष्यों के बीच

आपका अनुसरण, चार का भाग २

बाबाजी मेरी एक परिषद के शिष्यों में से एक थे। (ओह!) ५० परिषदें हैं, याद है मैंने आपको बताया? (हाँ।) १६वीं परिषद यहाँ थी, पहले धरती पर थी। नहीं, नहीं, मेरा मतलब धरती ग्रह पर, किसी दूसरी धरती पर, इस ग्रह पर नहीं।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-23   1088 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-23

"वी एनिमल्स" स्टोरीज़ को बताना: जो-एनी मैकआर्थर (वीगन) के साथ साक्षात्कार, 4 का भाग 2

00:15:41
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा

"वी एनिमल्स" स्टोरीज़ को बताना: जो-एनी मैकआर्थर (वीगन) के साथ साक्षात्कार, 4 का भाग 2

तो, हम छवियों के साथ क्या करते हैं - और यह सिर्फ अब मैं नहीं हूं, यह हम में से कई, फोटोग्राफर और फिल्म निर्माता हैं - हमने वी एनिमल्स आर्काइव पर सब कुछ डाल दिया है। मुझे लगता है कि यह सबसे अच्छी बात है जो हमने कभी किया है। सुप्रीम मास्टर चिंग हाई: "भगवान की असीम प्रेम में समर्थन के रूप में यूएस $ 10,000 के प्यार भरे योगदान के साथ शाइनिंग वर्ल्ड कम्पैशनेट फ़ोटोग्राफ़र अवार्ड जो-एनी मैकआर्थर को खुशि
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा
2020-05-22   249 दृष्टिकोण
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा
2020-05-22

जानवरों की रक्षा पर पवित्र नियम - "इन द फ्रंट ऑफ द ब्लाइंड" से कुछ अंश यहूदी विद्वान आसा केसर (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 1

00:13:47
ज्ञान की बातें

जानवरों की रक्षा पर पवित्र नियम - "इन द फ्रंट ऑफ द ब्लाइंड" से कुछ अंश यहूदी विद्वान आसा केसर (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 1

“व्यक्ति को जानवरों पर भी दया करनी चाहिए क्योंकि एक जानवर को अनुचित दर्द या पीड़ा देना मना है। दया का गुण इब्राहीम के बच्चों, इज़राइल के बीज का चिन्ह है। जैसा लिखा गया है, 'वह आपको दया देगा, दयालु बनो और अपने आप को कई गुना करो।'''
ज्ञान की बातें
2020-05-22   254 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-22

आपका अनुसरण, चार का भाग १

00:30:44
मास्टर और शिष्यों के बीच

आपका अनुसरण, चार का भाग १

माया हमें इस दुनिया के बुलबुले में रखती है, और हमें सबकुछ देती है। हमें हर तरह की चीज़ें... जो भी अप चाहते हैं! आराम और खाना, और अच्छे फूल, अच्छे दृश्य, सुंदर महिलाएँ, सरूप पुरुष, विलासी कारें, चमकदार सोना, हीरे, हर तरह की चीज़ें। अच्छी, लेकिन निरर्थक! और आप स्वतंत्रता चाहते हैं! जैसे ही आप स्वतंत्रता चाहते हैं, चीज़ें मुश्किल हो जाती हैं।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-22   1308 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-22

प्रेम पर: मानतिनी के दीयोतिमा के साथ सुकरात के संवाद "संगोष्ठी" में से प्लेटो (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 2

00:10:34
ज्ञान की बातें

प्रेम पर: मानतिनी के दीयोतिमा के साथ सुकरात के संवाद "संगोष्ठी" में से प्लेटो (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 2

"सभी लोग सभी काम करते हैं, और जितने बेहतर वे होते हैं उतना अधिक वे उन्हें करते हैं, अनश्वर गुण की शानदार प्रसिद्धि की आशा में; क्योंकि वे अमर की इच्छा करते हैं।” "आत्माएं जो गर्भवती हैं - वहाँ निश्चित रूप से पुरुष हैं जो उनकी आत्माओं में अधिक रचनात्मक हैं अपने शरीर की तुलना में, उसे गर्भ धारण करें जो उचित है आत्मा के लिए धारण करना या रखना। और ये अवधारणाएं क्या हैं? - ज्ञान और पुण्य सामान्य रूप में
ज्ञान की बातें
2020-05-21   245 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-21

प्रेम पर: मानतिनी के दीयोतिमा के साथ सुकरात के संवाद "संगोष्ठी" में से प्लेटो (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 1

00:11:23
ज्ञान की बातें

प्रेम पर: मानतिनी के दीयोतिमा के साथ सुकरात के संवाद "संगोष्ठी" में से प्लेटो (शाकाहारी) द्वारा, 2 का भाग 1

“भगवान आदमी के साथ नहीं घुलमिल जाते हैं; लेकिन प्यार के माध्यम से सभी कम्युनियन, और ईश्वर का वार्तालाप मनुष्य के साथ, चाहे जागें या सोएं, आगे लाए जाते हैं। ज्ञान जो यह समझता है आध्यात्मिक है।” "क्योंकि ज्ञान सबसे खूबसूरत चीज है, और प्रेम सुंदर का है; और इसीलिए, प्रेम भी एक दार्शनिक: या ज्ञान के प्रेमी है, और ज्ञान का प्रेमी होना बुद्धिमान और अज्ञानी के बीच में माध्यम है।”
ज्ञान की बातें
2020-05-20   264 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-20

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ५

00:33:34
मास्टर और शिष्यों के बीच

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ५

सन्यासी बनना आसान नहीं है। आप सबकुछ छोड़ सकते हैं, लेकिन अहम नहीं छोड़ सकते। यह आसान नहीं है। यह इसलिए भी क्योंकि सबकुछ त्याग दिया, तो उनका अहम बहुत बड़ा हो गया।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-20   1496 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-20

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ४

00:30:43
मास्टर और शिष्यों के बीच

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ४

और यह प्रेम लोगों को सहज महसूस कराता है। इस तरह का आसक्त प्रेम नहीं या बांधने वाला प्रेम या छोटा प्रेम नहीं। यह सार्वलौकिक प्रेम है, अप्रतिबंधित प्रेम, और इसे महसूस करना बहुत आरामदायक होता है। घर पर भी, अप्रतिबंधित होने का प्रयास करें। एक दूसरे से बिना शर्त प्रेम करने का प्रयास करें।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-19   1447 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-19

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे (शाकाहारी) के लेखन से कुछ अंश, दो का भाग २- सलाह के शब्द

00:15:12
ज्ञान की बातें

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे (शाकाहारी) के लेखन से कुछ अंश, दो का भाग २- सलाह के शब्द

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे ने कहा: “मानव अस्तित्व को खोजने की संभावना सौ में एक हैं। अब जब आपने एक ढूँढ लिया है, यदि आप उदात्त धर्म का अभ्यास करने में विफल रहते हैं, आप संभवतः ऐसे मौके को फिर से पाने की उम्मीद कैसे कर सकते हैं?''
ज्ञान की बातें
2020-05-19   228 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-19

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ३

00:31:42
मास्टर और शिष्यों के बीच

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें, एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग ३

यदि दुनिया में कोई बुद्धा नहीं होते, कोई संत नहीं, कोई आत्मज्ञानी व्यक्ति नहीं होते अपने आशीर्वाद से, अपनी करुणा से हमारी मदद के लिए, हम हमेशा के लिए ख़त्म हो जाते। यदि हम मानव के रूप में पुनर्जन्म ले सकें, या जानवर के रूप में भी, यह पहले ही बहुत अच्छा है। बस चिंता है हम बहुत अधिक धकेले जा सकते हैं कि हम ग़लत चीज़ें करते हैं, फिर हम नरक में दंडित कए जाएँगे, शायद हमेशा के लिए।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-18   1413 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-18

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे (शाकाहारी) के लेखन से कुछ अंश, दो भाग शृंखला का भाग १ -दूसरे प्राणियों का जीवन बचाने के लाभ

00:15:55
ज्ञान की बातें

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे (शाकाहारी) के लेखन से कुछ अंश, दो भाग शृंखला का भाग १ -दूसरे प्राणियों का जीवन बचाने के लाभ

चतराल संज्ञे दोरजे रिंपोचे ने कहा: “लामा, अधिकारी, भिक्षु, नन, पुरुष और महिलाएं, सभी स्थानों पर जिसे आपने नियंत्रित किया है, हर प्रभाव पर ज़ोर डालते हैं और अपनी शक्ति के भीतर सभी करते हैं जानवरों को छोड़ने और उनके जीवन को पुनर्स्थापित करने के लिए, दूसरों को समान करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए।''
ज्ञान की बातें
2020-05-18   317 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-18

स्वर्ण युग की भविष्यवाणी भाग ९०- प्रभु काल्की अवतार (शाकाहारी) और नया सत्य युग

00:21:59
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला

स्वर्ण युग की भविष्यवाणी भाग ९०- प्रभु काल्की अवतार (शाकाहारी) और नया सत्य युग

"अपने अथक प्रयास से, वह [भगवान कल्कि] सभी खूनखार परदेशी और चोरों को नष्ट कर देंगे, और सभी को जिनके मन बुराई के लिए समर्पित हैं। वह पृथ्वी पर धर्म को फिर से स्थापित करेंगे, और उन लोगों के मन जो काली युग के अंत में रहते हैं जागृत हो जाएगे, और क्रिस्टल की तरह स्पष्ट होंगे।”
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला
2020-05-17   717 दृष्टिकोण
हमारे ग्रह के बारे में प्राचीन भविष्यवाणियों पर बहु-भाग श्रृंखला
2020-05-17

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग २

00:33:17
मास्टर और शिष्यों के बीच

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग २

यदि आप इस तथाकथित तांत्रिक योगा के शिक्षक भी बनना चाहते हैं, आप कामुक आनंद की लत के ख़तरे से सुरक्षित नहीं होते हैं। मैंने यहाँ लिखा भी है। "यह ख़तरनाक तरीक़ा है क्योंकि आप इसके शक्तिशाली आनंद में फँस सकते हैं और अपने लक्ष्य तक नहीं पहुँच सकते, या इसे पूर्णतया भूल भी सकते हैं। इस भौतिक जगत में, कामुकता सबसे सामान्य है, फिर भी सबसे शक्तिशाली ताक़त है आत्मज्ञान तक पहुँचने के लिए।"
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-17   1659 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-17

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग १

00:29:38
मास्टर और शिष्यों के बीच

अपनी सच्ची प्रकृति को याद रखें एक संत की तरह जीए, पाँच भाग शृंखला का भाग १

क़ुआन यिन और क़ुआन क़ुआंग का अर्थ है अपने स्वय की प्रकृति को भीतर दो रूपों में सुनना: आंतरिक स्वर्गीय प्रकाश, जो आपकी बुद्ध प्रकृति या ईश्वरीय प्रकृति है; और दूसरी संक्षिप्त, अधिक केंद्रित रूप (आंतरिक स्वर्गीय) प्रकाश का (आंतरिक स्वर्गीय) ध्वनि है, जो आपकी मूल प्रकृति या बुद्ध प्रकृति या ईश्वरीय प्रकृति है।
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-16   2105 दृष्टिकोण
मास्टर और शिष्यों के बीच
2020-05-16

वाइट बफ़लो शिक्षण से प्रधान अरवोल लुकिंग हॉर्स द्वारा, दो भाग शृंखला का भाग २

00:10:31
ज्ञान की बातें

वाइट बफ़लो शिक्षण से प्रधान अरवोल लुकिंग हॉर्स द्वारा, दो भाग शृंखला का भाग २

“सातवीं पीढ़ी अब हम पर है। हर पीढ़ी सातवीं पीढ़ी है, और प्रत्येक पीढ़ी का अपना एक विशेष कार्य, अपने निर्देश हैं। हमारा वैश्विक उपचार है विश्व शांति और प्रार्थना के माध्यम से। यह इस पीढ़ी का काम है। यह मेरा काम है ... और वह, मेरे दोस्त, आपका भी कार्य है।" "उसे समझें आपका अपना अस्तित्व निर्भर करता है धरती माता का रक्षक बनने पर।”
ज्ञान की बातें
2020-05-16   275 दृष्टिकोण
ज्ञान की बातें
2020-05-16

"हम जानवर" कहानियों को बताना: जो-एने मैकआर्थर (वीगन) के साथ साक्षात्कार, 4 का भाग 1

00:15:31
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा

"हम जानवर" कहानियों को बताना: जो-एने मैकआर्थर (वीगन) के साथ साक्षात्कार, 4 का भाग 1

कैमरे के बारे में जो मुझे रोमांचक लगता है वह यह है कि यह बदलाव का एक उपकरण है। यह इन सभी उद्योगों पर प्रकाश डालता है जो दीवारों, खिड़की रहित दीवारों के पीछे काम कर रहे हैं। ये ऐसी जगहें हैं, जो दुनिया भर में सबसे अधिक भाग के लिए हैं, हमें देखने की अनुमति नहीं है। क्योंकि अगर हम देखें, तो लोग उस तरह की क्रूरता का समर्थन नहीं करेंगे।
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा
2020-05-15   296 दृष्टिकोण
सौंदर्यवादी क्षेत्रों के बीच एक यात्रा
2020-05-15
ऐप
QR कोड स्कैन करें, या डाउनलोड करने के लिए सही फोन सिस्टम चुनें
आईफ़ोन
एंड्रॉयड