आगे

मास्टर और शिष्यों के बीच

धरती संग्रह बोधिसत्तवा सूत्र: जीवों की कार्मिक स्थिति पर विचार करना, छः भाग शृंखला का भाग ५

2020-06-08
भाषा:English

प्रकरण

विवरण
डाउनलोड Docx
और पढो
"दीप्तिमान आँख की माँ अब मुक्ति बोधिसत्तवा है। दीप्तिमान आँख स्वयं अब धरती संग्रह बोधिसत्तवा है। वह अपनी करुणा और कृपा इस तरह फैला रहे हैं, सुदूर युगों से आगे, गंगा के कानों जितनी प्रतिज्ञा करके असंख्य जीवों की रक्षा करने के लिए।" अर्थात वह बार बार प्रतिज्ञा करते हैं, एक ही, दूसरों की रक्षा के लिए उनके बुद्धा बनने से पहले।
और देखें
प्रकरण
सूची
साँझा करें
साँझा करें
एम्बेड
इस समय शुरू करें
डाउनलोड
मोबाइल
मोबाइल
आईफ़ोन
एंड्रॉयड
मोबाइल ब्राउज़र में देखें
GO
GO
ऐप
QR कोड स्कैन करें, या डाउनलोड करने के लिए सही फोन सिस्टम चुनें
आईफ़ोन
एंड्रॉयड